हड़ताली शिक्षकों के वेतन भुगतान का ताजा आदेश अन्यायपूर्ण, सुधार हो : शिक्षक संघ

June 4, 2020
अन्य बड़ी खबरें
,
0

बिहार के हड़ताली माध्यमिक शिक्षकों के वेतन भुगतान को लेकर दिए गए ताजा आदेश को शिक्षक संघ ने अन्यायपूर्ण बताया है. बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ने हड़ताल अवधि की गणना 29 दिन किए जाने पर आपत्ति दर्ज की है. संघ के प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने कहा है कि विभाग ने कार्यदिवसों के अतिरिक्त हड़ताल अवधि में रविवार और होली जैसे महान पर्व के छुट्टियों की भी गणना कर दी है.

उन्होंने कहा कि अब तक की परम्परा के अनुसार हड़ताल अवधि की गणना तथा सामंजन मात्र उस अवधि में कार्यदिवसों की हुई क्षति की रही है, लेकिन विभाग द्वारा जारी ताजा निर्देश ना सिर्फ मानवीय दृष्टिकोण के खिलाफ है बल्कि संगठन और विभाग के परंपरा के भी प्रतिकूल भी है. उन्होंने मांग की है कि शिक्षा विभाग द्वारा इस पत्र को सुधार करते हुए हड़ताल अवधि में रविवार सहित अन्य सार्वजनिक छुट्टियों को हटाकर मात्र कार्यदिवसों की ही गणना कर उस आधार पर उतने ही दिनों का सामंजन करने का निर्देश पुनः जारी किया जाए.

रविवार को भी स्कूल में पढ़ाएंगे माध्यमिक शिक्षक, तभी होगा हड़ताल अवधि का वेतन भुगतान

कुमार ने कहा कि ग्रीष्मावकाश के छुट्टियां में भी विभाग के आदेशानुसार कार्य कर रहे शिक्षकों का हड़ताल अवधि में समंजन न किया जाना, शिक्षकों के साथ अन्याय है. क्योंकि माध्यमिक शैक्षिक कैलेंडर सह अवकाश तालिका के अनुसार ग्रीष्मावकाश की छुट्टियां 18 मई से 10 जून तक पूर्व से ही तय की गई है. जिसमें विभाग के ही आदेशानुसार शिक्षक इन छुट्टियों में कोरोंटाईन सेंटरों के अलावे अपने विद्यालयों में उपस्थित रहकर कार्य कर रहे हैं. इस अवधि को भी कार्यदिवस मानते हुए हड़ताल अवधि की गणना से अलग किया जाए.

बता दें कि बुधवार को माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरिवर दयाल सिंह के द्वारा हड़ताली शिक्षकों के उक्त अवधि के वेतन भुगतान के लिए नया आदेश जारी किया गया है. आदेश में कहा गया है कि हडताली शिक्षकों को इस साल कम से कम 7 रविवारों को भी विद्यालयों का संचालन करते हुए शिक्षण कार्य करना होगा.

Hey, like this? Why not share it with a buddy?

Related Posts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here