बिहार में सुशांत के नाम पर बने फिल्‍म सिटी, यही होगी सच्‍ची श्रद्धांजलि: फूल सिंह

June 28, 2020
Uncategorized
, ,
0

Patna: बिहार बॉय के नाम से मशहूर बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के समर्थन में आये भारतीय जनता सिने एंड टीवी कामगार संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष फूल सिंह ने दावा किया कि सुशांत आत्‍महत्‍या कर ही नहीं सकता है। उन्‍होंने पटना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि फिलहाल यह जांच का विषय है, लेकिन जिस दिन जांच में उन सफेदपोशों का नाम सामने आये, जिसकी वजह से सुशांत आज हमारे बीच नहीं हैं, तो उनकी फिल्‍मों को हम बिहार में रिलीज नहीं होने देंगे। फूल सिंह ने ये भी कहा कि सुशांत सिंह हमारे बिहार का गौरव है, इसलिए सुशांत को सच्‍ची श्रद्धांजलि यही होगी, कि बिहार में उनके नाम से फिल्‍म इंडस्‍ट्री का निर्माण हो।

फूल सिंह प्रेस कांफ्रेंस से पहले सुशांत सिंह राजूपत के परिजनों से मिलने उनके पटना आवास पर भी गए थी। वहां से लौटने के बाद उन्‍होंने पत्रकारों को बताया कि सुशांत वाली घटना के दिन से पटना पहुंचने तक बहुत बेचैन था। मैं भी कलाकार हूं। संवेदनशील हूं। उसके दर्द को बखूबी समझ सकता हूं। उसने संघर्ष किया और संघर्ष कर जो पाया, वह बिहार के लिए गौरव की बात है। वो उभरता लड़का, जिसने बेहद कम समय में झंडा गाड़ा था। धोनी अनटोल्‍ड स्‍टोरी के बाद हम हम गर्व से कहते थे कि फिर से अब इंडस्‍ट्री में बिहार का बेटा राज करेगा। उन्‍होंने कहा कि यह बात पूरी दुनिया जानती है कि सुशांत बहुत पढ़ा लिखा लड़का था। मेरे मन को आज भी भरोसा नहीं हो रहा कि उसने आत्‍महत्‍या किया। हम इस साल लॉकडाउन से कुछ पहले ही तो मिले थे।

फूल सिंह ने कहा कि आज बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में एसोसिएशन से लेकर फिल्‍म तक, जो भी कामगार हैं, उसमें 70 प्रतिशत बिहारी हैं। एक वक्‍त था जब मुंबई में मनसे का आतंक था, उस वक्‍त वे प्रोड्यूसर लोगों को परेशान करते थे। उसी समय भारतीय जनता पार्टी के मजदूर महासंघ के अध्‍यक्ष प्रह्लाद पटेल जी भारतीय जनता सिने एंड टीवी कामगार संघ की स्‍थापना की और मुझे इसका राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनाते हुए एक महत्‍वपूर्ण जिम्‍मेदारी सौंपी थी। उसका दायित्‍व का निर्वहन हमने हमेशा किया और आज भी एक कलाकार होने के नाते भी हम सुशांत को न्‍याय दिला कर ही दम लेंगे।

Hey, like this? Why not share it with a buddy?

Related Posts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here