सरकारी स्कूल को माफियाओं ने बना रखा था गोदाम, क्लास रूम से निकली 20 हजार शराब की बोतलें

July 5, 2020
क्राइम
, , , , ,
0

Patna: भारत-नेपाल सीमा पर बसे सीतामढ़ी जिले में शराब का अवैध कारोबार (Illegal Liquor Smuggling) खूब फल फूल रहा है. हालात यह हैं कि पुलिस की आंखो में धूल झोंकने के लिए शराब माफिया शराब के धंधे को बे रोक टोक चलाने के लिए रोज नए नए तरीके का इजाद कर रहे है. शराब माफियाओ ने अपनी इस मुहिम में शिक्षा के मंदिर को भी नहीं बख्शा और सरकारी स्कूल (Liquor in School) को शराब भंडारण का केंद्र बना दिया. सीतामढ़ी के बाजपट्टी थाना पुलिस ने शराब कारोबारियों के इस कारनामे का पर्दाफाश करते हुए सरकारी मीडिल स्कूल में रखे तकरीबन 100 कार्टन शराब को बरामद किया है.

यह बरामदगी पुलिस ने शराब कारोबारियों के निशानदेही पर ही किया है. इस मामले में 5 शराब कारोबारी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है इतना ही नहीं पुलिस गिरफ्तार लोगों से पता लगाने की कोशिश में है कि इस बड़े नेटवर्क में और कौन कौन सफेदपोश लोग शामिल हैं. बताया जाता है कि गुप्त सूचना के आधार पर बाजपट्टी थाना क्षेत्र के पथराही गांव के मध्य विद्यालय परिसर में छापेमारी कर 20 हजार 712 बोतल अंग्रेजी शराब के साथ एक ट्रक, टाटा सूमो, एक ऑटो व तीन बाइक बरामद किया. इस दौरान पांच धंधेबाजों को भी गिरफ्तार कर लिया.

गिरफ्तार पांचों धंधेबाज की पहचान हरियाणा प्रदेश के करनाल जिले के इंद्री थाना क्षेत्र के इंद्री गांव निवासी बलदेव सिंह, जयपाल सिंह और मुजफ्फरपुर जिले के पिथौझिया गांव निवासी मनोज सहनी और हथौड़ी थाना क्षेत्र के रंजीत सहनी और दिनेश सहनी के रूप में की गयी है. पुपरी डीएसपी संजय कुमार पांडे ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थाना क्षेत्र के पथराही गांव में शराब कि बड़ी खेप आने वाली है. इस दौरान सीतामढ़ी एसपी अनिल कुमार के निर्देश पर पुलिस टीम गठित कर पथराही गांव में छापेमारी की. यह छापेमारी पूरी रात चली.

छापेमारी के दौरान पुलिस को देख शराब ढोने वाले कई मजदूर भाग निकले जबकि पुलिस ने एक ट्रक के अलावा, एक कार, एक ऑटो, 2 टाटा सूमो और तीन बाइक से शराब बरामद किया है. डीएसपी ने बताया कि शराब और सभी गाड़ियों को जब्त कर लिया है, वहीं गिरफ्तार पांचों धंधेबाज के खिलाफ उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर शनिवार को न्यायिक हिरासत में भेजने की प्रक्रिया पुलिस ने शुरू कर दिया है. डीएसपी ने बताया कि जब्त किए गए मोबाइल से कॉल डिटेल निकाला जा रहा है और जल्द ही मामले का पर्दाफाश किया जाएगा. इस अभियान में थानाध्यक्ष अजय कुमार मिश्रा, सब इंस्पेक्टर लालकुमार पासवान, एजाज खान, संजय कुमार राय, एसआई राजनाथ सिंह व विनोद सिंह के अलावा अन्य पुलिस बल शामिल थे.

Hey, like this? Why not share it with a buddy?

Related Posts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here