अब बिहार में भी नहीं होगी रैपिड टेस्ट किट से कोरोना की जांच, सरकार करेगी ICMR की गाइडलाइन को फॉलो

April 22, 2020
जिलाटॉप
, ,
0

Patna: बिहार में आई रैपिड टेस्ट किट से कोरोना संक्रमण की जांच शुरू किए जाने से पहले ही उस पर रोक लगा दी गई है. दरअसल बिहार के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर रेपिड टेस्ट किट से कोरोना की जांच की तैयारी हो रही थी. सोमवार को रैपिड किट का प्रशिक्षण कराया गया और मंगलवार से इसे प्रदेश के सभी जिलों के सिविल सर्जन को भेजने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई थी. कहा जा रहा था कि कोरोना की रिपोर्ट के लिए दो दिनों का इंतजार नहीं बस दो बूंद खून देते ही रिपोर्ट सामने होगी. लेकिन इसमें खामी निकलने के बाद राज्य सरकार ने कहा है कि फिलहाल इसका इस्तेमाल नहीं किया जाएगा.

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने रैपिड टेस्ट किट के इस्तेमाल पर कहा कि हम लोगों ने भी नोन सैम्पल्स (जिसकी पहले ही रिपोर्ट आ चुकी थी) की जांच रैपिड किट से की तो इसके रिजल्ट डिफेक्टिव दिखे. हमलोगों ने आइसीएमआर के संज्ञान में बात ला दी है.

Covid-19: Stop using Chinese rapid test kits for 2 days, says ICMR ...

उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से भी ये शिकायत मिली है और ICMR ने कहा है की दो दिनों तक रेपिड किट का इस्तेमाल नहीं किया जाय. ICMR इसकी समीक्षा करके हमें आगे इसके इस्तेमाल पर गाइडलाइन देगा. स्वास्थ्य सचिव ने यह भी माना कि खाजपुरा में पॉजिटिव महिला की रिपोर्ट में आई गड़बड़ी इस वजह से हो सकती है. हालांकि अभी भी उस महिला को पॉजिटिव के दायरे में ही रखा गया है.

बिहार में कोरोना के बढ़ते आकड़े पर उन्होंने कहा कि ये अच्छी बात है की जो संक्रमित हैं वो पहचान में आ रहे हैं. ये बताता है की निगरानी रखी जा रही और हम सजग हैं. बता दें कि प्रदेश में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 113 हो गई है. कोरोना संक्रमण की वजह से बिहार में अब तक दो मरीजों की मौत हो चुकी है.

Hey, like this? Why not share it with a buddy?

Related Posts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here